Latest ताज़ा खबर

बीजापुर नक्सली हमले पर गृह मंत्रालय से जबरदस्त कारवाई के संकेत

नयी दिल्ली, 5 अप्रैल 2021। छत्तीसगढ़ के बीजापुर में शनिवार को माओवादियों के साथ हुई मुठभेड़ में मारे गए जवानों की संख्या बढ़कर 22 हो गई है। नक्सल ऑपरेशन के डीजी अशोक जुनेजा ने बीबीसी से इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि एक जवान शनिवार को मुठभेड़ के बाद से ही लापता है। तो दूसरी तरफ गृह मंत्रालय की बैठक में नक्सलियों पर जबरदस्त कारवाई के संकेत मिल रहे हैं।

गृहमंत्री अमित शाह ने मुठभेड़ के बाद असम में चुनाव अभियान को बीच में छोड़ कर दिल्ली लौटे और मौजूदा हालात पर दिल्ली में वरिष्ठ अधिकारियों के साथ समीक्षा की है। इस बैठक में केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला, इंटेलिजेंस ब्यूरो के निदेशक अरविंद कुमार और गृह मंत्रालय के अन्य वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित रहे।

दिल्ली से पहले गुवाहाटी में संवाददाताओं से बात करते हुए गृहमंत्री अमित शाह ने कहा था, “मैं जवानों के परिवारों को भरोसा दिलाना चाहता हूं कि उनका बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा”।

इस घटना पर बस्तर के पुलिस महानिरीक्षक पी सुंदरराज ने कहा है कि ताज़ा जानकारी के मुताबिक, “22 जवानों के शव बरामद हो गए हैं। 31 जवान घायल हैं जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उनकी हालत स्थिर बनी हुई है, एक कोबरा जवान लापता है. तलाशी अभियान जारी है”। तो केंद्रीय रिज़र्व पुलिस फोर्स (सीआरपीएफ) के महानिदेशक कुलदीप सिंह ने कहा है कि “ऑपरेशन में किसी तरह की इंटेलीजेंस चूक नहीं हुई है। बीजापुर मुठभेड़ में 25-30 नक्सली मारे गए हैं। इसके अलावा ख़बर मिली है कि मुठभेड़ के बाद माओवादी अपने घायल साथियों को तीन ट्रैक्टर-ट्रालियों की मदद से ले गये थे. इस घटना की जाँच की जा रही है”।

छत्तीसगढ़ के बीजापुर नक्सली हमले में मारे गए जवानों के नाम हैं : 1. दीपक भारद्वाज (सब इंस्पेक्टर), 2. रमेश कुमार जुर्री (हेड कॉन्स्टेबल), 3. नारायण सोढ़ी (हेड कॉन्स्टेबल), 4. रमेश कोरसा (कॉन्स्टेबल), 5. सुभाष नायक (कॉन्स्टेबल), 6. किशोर एंड्रिक (असिस्टेंट कॉन्स्टेबल), 7. सनकूराम सोढ़ी (असिस्टेंट कॉन्स्टेबल), 8. भोसाराम करटामी (असिस्टेंट कॉन्स्टेबल), 9. श्रवण कश्यप (हेड कॉन्स्टेबल), 10. रामदास कोर्राम (कॉन्स्टेबल), 11. जगतराम कंवर (कॉन्स्टेबल), 12. सुखसिंह फरस (कॉन्स्टेबल), 13. रमाशंकर पैकरा (कॉन्स्टेबल), 14. शंकरनाथ (कॉन्स्टेबल), 15. दिलीप कुमार दास (इंस्पेक्टर), 16. राजकुमार यादव (हेड कॉन्स्टेबल), 17. शंभूराय (कॉन्स्टेबल), 18. धर्मदेव कुमार (कॉन्स्टेबल), 19. शखामुरी मुराली कृष्ण (कॉन्स्टेबल), 20. रथू जगदीश (कॉन्स्टेबल), 21. बबलू रंभा (कॉन्स्टेबल), 22. समैया माड़वी (कॉन्स्टेबल)।

पिछले कुछ वर्ष के बाद छत्तीसगढ़ में यह माओवादियों का सबसे बड़ा हमला माना जा रहा है। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने माओवादियों से मुठभेड़ में जवानों की मौत पर दुख व्यक्त किया है। प्रधानमंत्री मोदी ने इस घटना के बाद एक ट्वीट में लिखा, “छत्तीसगढ़ में माओवादियों से लड़ते हुए शहीद हुए जवानों के परिवारों के साथ मेरी संवेदनाएं हैं। वीर शहीदों की कुर्बानियों को कभी भुलाया नहीं जा सकेगा. घायलों के जल्द से जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूँ”।

(फोटो साभार गूगल से)

Related posts

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा संयुक्त राष्ट्र में भारत को फैसले का हक़ कब ? पाक पीओके खाली करो

My Mirror

‘Can take pride in that’: MSK Prasad reveals why Virat Kohli was chosen as MS Dhoni’s successor

cradmin

बचपन बचाओ आंदोलन के प्रणेता अग्निवेश का निधन

My Mirror

Leave a Comment