Articles आलेख Other

राहुल गाँधी और राजकुमार हैरी : राणा रुचि रुशा

राणा रुचि रुशा
राहुल गाँधी और राजकुमार हैरी
– राणा रुचि रुशा

कुछ दिन पहले एक वीडियो देखा था, राजकुमार हैरी (ब्रिटेन के राजकुमार ड्यूक ऑफ ससेक्स हैरी)  राजगद्दी के 5 वें-6 ठे दावेदार हैं| तब मन में सवाल उठा, इन्हे अपने बड़े भाई-भतीजों से जलन नहीं होती पर इनके अपनी उपाधि त्यागने के बाद तो ये बात सिद्ध हो गई कि इस इंसान की लाइफ में परिवार और प्रेम से बडी़ कोई चीज नहीं हैं।

Rahul Gandhi and Prince Harry
Rahul Gandhi and Prince Harry
एक राजकुमार भारत में भी है जिसे सब लोग बड़े गर्व से पप्पू बोलते हैं, जैसे खुद तो दो चार बार एवरेस्ट चढ़कर आये हैं। इन दोनों पुरुषों में एक चीज काॅमन है, इन्हें डर लगता है, ये हकलाते हैं और जो सबसे बड़ी चीज है वो कि ये अपने परिवार को प्यार करते हैं। दहाड़ते नहीं हैं, किसी अंधेरे कमरे में बैठकर दहाड़ें मारकर रोते भी होंगे, जो आजतक सामने नहीं आया है। आप इन चीजों की प्रशंसा कर सकते हैं कि एक मर्द डरता है, रोता भी है और हकलाता भी है| किन्तु नहीं करेंगे क्योंकि आपको तो तरह तरह के वेष में सजकर, झूठ बोलने वाला मदारी पसंद है, भले ही पूरी दुनिया चिल्लाये कि भय्या तुम डूब रहे हो, पर वहाँ से भी आप अच्छाई निकाल ही लेंगे।
एक ब्रेकअप पर दुनिया छोड़ने की ख्वाहिश रखने वाले तमाम बहादुर यदि अपने बचपन में अपनी दादी का गोलियों से छलनी रक्तम्य शरीर देखते या फिर अपने बेहद प्रेम करने वाले पिता का टुकड़ों में बंटा शरीर देखते, जहाँ ये भी पता न हो कि कि ये जो टुकड़े शवदाह के लिए लाये गये हैं, ये मेरे पिता के ही हैं या किसी और के ? सोचकर देखिए एक बार खुद को उस स्थिति में !! ऐसे बच्चे ने कैसे खुद को संभाला होगा ? वो जब भी किसी सभा में भाषण देते होंगे तो बार बार ये लगता होगा कि शायद कोई गोली या बम आज मुझे निशाना बना सकते हैं, तो जवाब आयेगा कि जाओ भाई घर बैठो, किसने कहा भाषण दो ?
हैरी अक्सर कहते हैं कि जब भी मैं किसी कैमरे की लाइट या आन-ऑफ सुनता हूँ तो डर जाता हूँ| मैं वापस उन्हीं अंधेरों में खो जाता हूँ, जिनसे मुझे घृणा है। ये दर्द आप महसूस नहीं कर सकते क्योंकि आप सच में एक खुशहाल जीवन में हैं। माँ को नहीं खोया, पिता को नहीं खोया, बीवी-बच्चे, खुशहाल फैमिली, लाइफ टनाटन ! किन्तु इनकी जिंदगी ऐसी नहीं है| कुछ है जो कभी नहीं भरेगा, पर ये कोशिश में है कि सब ठीक हो, इनसे प्रेम मत करिये, अपने हिसाब का पीएम चुनिये पर बेइज्जती भी मत करिये।
किसी ने कहा था बड़ी ख्वाहिशे नहीं हैं, बस अपने परिवार, माँ बीवी के साथ खुश रहना चाहता हूँ और ये कहने वाले मुझे रोज मिलते हैं, कभी भाई के रूप में कभी दोस्त के रूप में और कभी एफबी फ्रेंड के रूप में, वैसे ही जैसे हैरी और राहुल चाहते हैं|
——————————-

Related posts

प्रेमिका से मिलने पहुंचे युवकों की बाल मूढकर पिटाई

My Mirror

China responds to report it fired laser at US Navy plane

cradmin

सीतामढ़ी में कोरोना के 639 मामले दर्ज

My Mirror

Leave a Comment