ताज़ा खबर

CAA और NRC विरोधी सामाजिक कार्यकर्ता ज़ैनब सिद्दीकी के घर पुलिसिया दमन

Janaib Siddiqui

लखनऊ 5 नवंबर 2020। लख़नऊ की CAA तथा NRC के विरोध में पहली पंक्ति की सामाजिक कार्यकर्ता ज़ैनब सिद्दीकी के घर पुलिसिया दमन, माता-पिता और छोटे भाई-बहनों को बुरी तरह मारा-पीटा और माता-पिता को हसनगंज थाने ले गई पुलिस।

जैनब सिद्दीकी ने बताया कि उनके घर पुलिस ने आकर पूछा कि क्या आपकी बेटी CAA और NRC आंदोलन में है तो परिवार वालों ने कहा कि वो तो महिला संगठन में काम करती हैं। जिसके बाद वो लौट गए और एक-डेढ़ घंटे के बाद लौट के आए और लाठी-डंडे से मारना शुरू कर दिया।

जैनब की छोटी-छोटी बहनें हैं उन्हें सड़क पर दौड़ा-दौड़ा कर पीटा गया। भद्दी-भद्दी गालियां देते हुए जैनब के पापा को 10 से 15 पुलिस वाले पकड़ कर हसनगंज थाने ले गए। बहन और मां को भी थाने में बिठा रखा है।

रिहाई मंच के महासचिव राजीव यादव ने जैनब सिद्दकी पर इस पुलिसिया दमनात्मक कार्रवाई का विरोध करते हुए जैनब के परिजनों की सुरक्षा और तत्काल रिहाई की मांग की है।

राजीव यादव ने कहा कि बिना कारण बताए गैर कानूनी तरीके से किसी को ले जाना गलत है। यह परेशान करने के मकसद से लोगों कि आवाज़ का दमन करने के लिए किया जा रहा।

योगी पुलिस संविधान-लोकतंत्र को ताक पर रखकर दमन की कार्रवाई कर रही है। इसी के तहत फिर से नागरिकता आंदोलन के नाम पर लोगों के होर्डिंग-पोस्टर लगवा रही है जबकि इलाहाबाद हाई कोर्ट भी यूपी सरकार के इस कदम पर सवाल उठा चुका है।

(राजीव यादव, महासचिव, रिहाई मंच के प्रेस विज्ञप्ति पर आधारित)
——-——

Related posts

गहलोत ने कहा विधायकों की खरीद-फरोख्त का रेट बढ़ गया है

My Mirror

Indian agencies point to Pak link in anti-CAA protests

cradmin

“दिल्ली में बारिश का कहर, दस झुग्गियां बही”

My Mirror

Leave a Comment